Blog

 

न्यूमरोलॉजी भविष्य फल २०२१  !! ….. अंकों की दृष्टि से कैसा रहेगा आपका २०२१ , किसकी चमकेगी किस्मत, किसका होगा भाग्योदय, क्या बरतें सावधानी!!

न्यूमरोलॉजी भविष्य फल २०२१  !!  ~  नन्दिता पाण्डेय , ऐस्ट्रोटैरोलोजर, न्यूमेरोलोजिस्ट      मूलांक १ ( जन्म तारीख १, १० , १९ , २८ ):    कार्य क्षेत्र में पुराने प्रोजेक्ट वापसी की राह देखेंगे एवं आपके लिए प्रगति लेकर आएँगे। इस वर्ष आपके कार्य क्षेत्र में काफ़ी उन्नति होगी एवं कोर्ट कचहरी के मसले भी आपके अनुकूल होते जाएँगे। आर्थिक दृष्टिकोण से…

वार्षिक टैरो भविष्य फल – २०२१ …. कैसा रहेगा आपका वर्ष २०२१ , करीयर में प्रभाव, आर्थिक स्तिथी, प्रेम – परिवार, सुख समृद्धि ,,,,, जानें टैरो कार्ड्ज़ की नज़र से !!

वार्षिक टैरो भविष्य फल – २०२१ नन्दिता पाण्डेय ऐस्ट्रोटैरोलोजर , आध्यात्मिक गुरु, लाइफ़ कोच मेष राशिफल : ( २२ मार्च – २१ अप्रैल ) इस वर्ष आपके कार्य क्षेत्र में काफ़ी बदलाव नज़र आएँगे एवं आप की कार्य करने की शैली में भी परिवर्तन के योग बन रहे हैं। सेहत में बेहतर परिणाम रहेंगे एवं किसी जानकर डॉक्टर की सलाह…

१४ दिसम्बर २०२० को पड़ रही है सोमवती अमावस्या ~ पूजा विधि एवं कौन से उपाय लेकर आएँगे धन – यश – समृद्धि

सोमवती अमावस्या . आज सोमवती अमावस्या 14 द‍िसंबर 2020 सोमवार के दिन पड़ रही है। सोमवार के दिन अमावस्या की तिथि पड़ने के कारण इसे सोमवती अमावस्या कहा जाता है इसके साथ ही इसे दर्श अमावस्या भी कहते हैं। हिंदू धर्म में सोमवती अमावस्या या दर्श अमावस्या का विशेष महत्व है। इस दिन गंगा स्नान और दान आदि करने का…

दीपावली के पंचदिवसिय महा पर्व इस वर्ष १३ नवम्बर से शुरू हो रहे हैं, जानिए महालक्ष्मी को प्रसन्न करने की पूजन विधि, पर्व का महत्व, किस दिन कौन सी करें पूजा, पूजा विधान….

दीपावली के पँच दिवसीय महापर्व की आप सभी को अनन्त  शुभकामनाएँ।  कार्तिक मास की अमावस्या को दीपावली का महा निशित काल मनाया जाता है। इस वर्ष १३ नवम्बर २०२० से दीपावली का महापर्व शुरू हो रहा है जो १६ नवम्बर भाई दूज पर समाप्त होगा। इस वर्ष चतुर्दशी तिथि एवं अमावस्या तिथि एक साथ मनायी जाएगी जो की १४ नवम्बर…

शरद पूर्णिमा / कोज़गारी पूर्णिमा (३०/ ३१ अक्टूबर ) , पूजा विधान, महत्व एवं उपाय!!

शरद पूर्णिमा / कोज़गारी पूर्णिमा शरद पूर्णिमा / कोज़गारी पूर्णिमा की आप सभी को अनन्त शुभकामनाएँ । आज यानी ३० अक्टूबर को शरद पूर्णिमा है। अश्विन मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को शरद पूर्णिमा पड़ती है। आज रात्रि को चन्द्रमा अपनी पूर्ण सोलह कलाओं से युक्त हो चाँदनी बिखेरता है ।  इसे कोजागरी पूर्णिमा के नाम से भी जाना…

शारदीय नवरात्रि महत्व एवं पूजा विधान : 17 अक्टूबर से शुरू हो रहा है नवरात्रि का महा पर्व।

शारदीय नवरात्रि महत्व एवं पूजा विधान :  नवरात्रि का महत्व: नवरात्रि के दौरान मां दुर्गा (Durga) के सभी नौ रूपों की पूजा की जाती है. पूरे वर्ष में चार नवरात्रि होती हैं, जिनमे दो गुप्त नवरात्रि होती हैं जो तांत्रिक सिद्धि के लिए मुख्यतः मानी जाती हैं एवं दो सामाजिक रूप से मनायी जाने वाली नवरात्रि होती हैं जिन्हें चैत्र…

PitraPaksh (पितृपक्ष) Dates, Puja and its Significance…!!… Shraddh period is starting from 2nd September – 17th September 2020…

PitraPaksh (पितृपक्ष) Dates, Puja and its Significance…!!… In 2020 , the auspicious period for offering prayers, Tarpan and doing charities in the name of ancestors is starting from 2nd of September and shall culminate on the 17th of September 2020.  It is to be noted that since this has been a leap year and there has been one extra month…

श्री कृष्ण जन्माष्टमी/ जन्मोत्सव ११/१२ अगस्त को है : किस दिन मनाएँ जन्माष्टमी, मुहूर्त, पूजा विधि एवं क्या करें उपाय की हो सभी मनोकामना पूरी… ।।

श्री कृष्ण जन्माष्टमी/ जन्मोत्सव : मुहूर्त, पूजा विधि, उपाय  . भादो माह की कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि की मध्य रात्रि एवं रोहिणी नक्षत्र में भगवान विष्णु के अवतार श्री कृष्ण का जन्म हुआ था। यह पर्व श्री कृष्ण जन्माष्टमी के रूप में भी मनाया जाता है।   श्री हरी- नारायण के अवतार श्री कृष्ण का जन्म भाद्रपद माह की कृष्ण पक्ष…

1 2 9
PHP Code Snippets Powered By : XYZScripts.com