Blog

 

गुप्त नवरात्रि में कैसे करें दस महा विद्याओं को प्रसन्न एवं पाएँ सुख, समृद्धि।।………………….2018 में आषाड़ गुप्त नवरात्रि १३ जुलाई से २१ जुलाई तक रहेगी ……..

गुप्त नवरात्रि में कैसे करें दस महा विद्याओं को प्रसन्न एवं पाएँ सुख, समृद्धि।।। गुप्त नवरात्रि जुलाई २०१८ में १३ जुलाई से २१ जुलाई तक रहेंगी ,,,,, नवरात्रि का पारण २१ जुलाई को होगा ,,,, https://youtu.be/DbqbvRd15PQ  

Tarot Weekly Forecast  (15thJuly – 21stJuly 2018) ……………… ……………….Nandita Pandey is a celebrity AstroTarotloger, Energy Healer, Spiritual Guide, Past Life regression Therapist, Life Coach…. Also appears as a panel of Metaphysical / Astro expert in all the top Indian TV News Channels … is a columunist in many magazines and newspapers… and also a resident AstroTarotloger with the Times of India Group in India since last decade and half….

Tarot Weekly Forecast  (15thJuly – 21stJuly 2018) ARIES : –   (22nd March- 21st April) Matters of heart would need special focus towards your love life. Professionally, things might go out of your hand in this week. However, being ethical in yoru approach helps you in manifesting success. Finances show subtle improvements all through this period. A little bit of relaxations helps in health…

साप्ताहिक टैरो भविष्य फल  (   १५ जुलाई    – २१ जुलाई      २०१८ )  ………………………. ……………… Nandita Pandey is a celebrity AstroTarotloger, Energy Healer, Spiritual Guide, Past Life regression Therapist, Life Coach…. Also appears as a panel of Metaphysical / Astro expert in all the top Indian TV News Channels … is a columunist in many magazines and newspapers… and also a resident AstroTarotloger with the Times of India Group in India since last decade and half….

साप्ताहिक टैरो भविष्य फल  (   १५ जुलाई    – २१ जुलाई      २०१८ )      मेष ( २२ मार्च – २१ अप्रैल )     परिवार में ख़ुश ख़बरी मिलेगी एवं एक नयी सोच के साथ की गयी शुरुआत भी पोसिटिव ख़बर लेकर आएगी। कार्य क्षेत्र में स्तिथियाँ  क़ाबू से बाहर जा सकती हैं, संयम के साथ काम लें एवं…

साप्ताहिक टैरो भविष्य फल  (   ८ जुलाई    – १४ जुलाई      २०१८ )  ……………………………. Nandita Pandey is a celebrity AstroTarotloger, Energy Healer, Spiritual Guide, Past Life regression Therapist, Life Coach…. Also appears as a panel of Metaphysical / Astro expert in all the top Indian TV News Channels … is a columunist in many magazines and newspapers… and also a resident AstroTarotloger with the Times of India Group in India since last decade and half….

साप्ताहिक टैरो भविष्य फल  (   ८ जुलाई    – १४ जुलाई      २०१८ )      मेष ( २२ मार्च – २१ अप्रैल )     आर्थिक उन्नति के अवसर ख़ूब मिलेंगे एवं निवेश द्वारा वृद्धि होगी। कार्य क्षेत्र में हालाँकि अचानक कोई मुश्किलात सामने आ सकती है। थोड़ा सा एकांत में समय व्यतीत करना या फिर मेडिटेशन करना सेहत में…

२५ मई ’18 को पड़ रही है “पद्मिनी” / “कमला” एकादशी ….. जाने क्या है इसका महत्व,,,,, क्यों मनायी है पद्मिनी एकादशी हर तीसरे वर्ष में…. पद्मिनी एकादशी से होगी हर मनोकामना पूरी ….. !!

  पद्मिनी  एकादशी(२५ मई ’18 )   हिन्दू नववर्ष की पुरुषोत्तम मास की  एकादशी,  यानी की अधिक ज्येष्ठ माह  के शुक्ल पक्ष पर पड़ने वाली एकादशी को पद्मिनी एकादशी या कमला एकादशी के रूप में मनाया जाता है । इस एकादशी के व्रत से सुख एवं समृद्धि  की प्राप्ति होती है एवं किसी भी प्रकार के दान का कई गुणा फल मिलता है। इसे पद्मिनी  एकादशी के रूप में इसलिए मनाया जाता है क्योंकि इस दिन भगवान विष्णु का विधि पूर्वरक पूजन करने से अपार एवं कभी ना ख़त्म होने वाले सुख एवं समृद्धि की प्राप्ति होती है। साथ ही साथ व्यक्ति…

गंगा दशहरा (२४ मई  २०१८) की शुभकामनाएँ!!,,,,, क्या करें आज,,,,,, गंगा स्नान एवं दान पुण्य का महत्व ,,,,, माँ की कृपा से होगी निरोगी काया,,,,

गंगा दशहरा  ( २४ मई  २०१८ )   ज्येष्ठ  मास के शुक्ल पक्ष की दशमी  तिथि को गंगा दशहरा  के रूप में मनाया जाता है। यह दिन गंगा अवतरण के रूप में भी मनाया जाता है क्योंकि माना जाता है की इस दिन माता गंगा हस्त नक्षत्र में स्वर्ग से धरती पर अवतरित होने के लिए आगे बड़ी थीं।  …

१५ मई २०१८ को है ज्येष्ठ अमावस्या ,शनी जयंती एवं वट सावित्री व्रत ….. क्या होता है अमावस्या का महत्व ….कैसे करें पितरों की मोक्ष प्राप्ति के लिए पूजा,,,, १५ मई को है शनी जयंती ,,,,, शनी जयंती मे करें ये उपाय, होगी मनोकामना पूर्ण,,,,, वट सावित्री व्रत से होगी अखंड सुहाग की प्राप्ति ,,,,,

  ज्येष्ठ अमावस्या :१५ मई २०१८    वैसे तो हर मास की अमावस्या को दान पुण्य एवं पितरों की शांति आदी कार्यों के लिए अत्यंत शुभ माना जाता है पर ज्येष्ठ अमावस्या का इन सभी अमावस्याओं मेन विशेष महत्व है क्योंकि इस दिन को शनी जयंती के रूप मेन भी मनाया जाता है एवं इसी दिन वट सावित्री व्रत भी…

वैसाख पूर्णिमा ३० अप्रैल २०१८ को पड़ रही है … भगवान बुद्ध की जयंती, निर्वाण की प्राप्ति सभी इस दिन हुई,,,,, आज क्या करें,,, की हो सुख शान्ति का आवाहन,,,,,,, ध्यान/ योग के लिए उत्तम दिन,,,

बुद्ध पूर्णिमा या वेसाक़ पूर्णिमा  30 अप्रैल २०१८     बैसाख मास की पूर्णिमा को बुद्ध पूर्णिमा या वेसाक़ पूर्णिमा की तरह मनाया जाता है।बैसाख मास की पूर्णिमा होने की वजह से इसे बैसाख पूर्णिमा भी कहा जाता है। सनातन धर्म में यह दिन इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि माघ मास से शुरू होने वाले नदी में स्नान आदि करने की…

नृसिंह जयंती ( शनिवार, २८ अप्रैल २०१८ ) ,,,,, भगवान विष्णु के चौथे अवतार नृसिंह देव के प्रसन्न होने से ख़त्म होती हैं समस्त समस्याएँ ,,,,,, होते हैं सुख समृद्धि के एवं प्रगति के मार्ग प्रशस्त ,,,, !!

नृसिंह जयंती ( २८ अप्रैल २०१८ )  बैसाख मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि को नृसिंह जयंती के रूप में मनाया जाता है। इस वर्ष यह उत्सव शनिवार २८ अप्रैल २०१८ को पड़ रहा है  ।इस दिन विष्णु अवतार भगवान नरसिंह का उद्गम एक खम्बे को चीर कर हुआ था। नरसिह अवतार के रूप में भगवान आधे मनुष्य एवं आधे सिंह के रूप में जागृत हुए थे। विष्णु पुराण के अनुसार भगवान विष्णु के दसवतारों में नृसिंह देव को चौथा अवतार माना जाता है।  पौराणिक कथा: प्राचीन मान्यता के अनुसार ,  ऋषि कश्यप एवं उनकी पत्नी दिती की दो संतानें हुईं । ऋषि पुत्र होने के बावजूद दोनो ही संतानों में राक्षसी गुण की मात्रा प्रचुर भरी हुई थी। ऐसे में श्री हरी भगवान नारायण ने अपने वराह अवतार में उनके बड़े पुत्र हरिणयाक्ष का वध किया । अपने ज्येष्ठ भ्राता का वध देखकर हिरण्यकशिपु ने अपने को अजय बनाने की ठानी एवं सृष्टि के रचियता भगवान ब्रह्मा की तपस्या में लींन हो गया । घोर तप से प्रसन्न होकर हिरण्यकाशपु की इच्छाअनुसार ब्रह्माजी ने उसे वरदान दिया की उनके द्वारा रची गयी सृष्टि की किसी भी रचना से उसका वध नहीं होगा ,  ना वह पृथ्वी में मरेगा ,  ना ही आकाश में,  ना ही पाताल में,  ना मनुष्य द्वारा ना ही किसी जानवर द्वारा उसका वध हो पाएगा ।  ऐसा वरदान प्राप्त कर हिरयाणकशपु अपने को अजय समझ तीनो लोकों में त्राहि त्राहि मचाने लगा । …

दस महाविद्याओं में छठी महाविद्या “माँ छिन्नमस्ता” की जयंती इस वर्ष २८ अप्रैल, शनिवार को पड़ रही है।……… कैसे करें माँ के इस रूप की पूजा….. होगी सभी मनोकामना पूरी ,,,,

छिन्नमस्ता जयंती  परशक्ति माँ की दस महाविद्याओं में छठी महाविद्या, माता छिन्नमस्ता की जयंती इस वर्ष २८ अप्रैल, शनिवार को पड़ रही है। माता छिन्नमस्ता के स्मरण मात्र से ही भक्तों के कष्ट दूर हो जाते हैं।    परशक्ति माँ की महाविद्याओं का पूजन उन्ही को करना चाहिए जिन्होंने गुरु सिद्धि प्राप्त की हो। या फिर योग, ध्यान नियमित रूप…

PHP Code Snippets Powered By : XYZScripts.com